रणदीप हुड्डा ने सारागढ़ी के युद्ध की 124 वर्षगांठ पर अपनी शेल्व्ड फिल्म को याद करते हुए लिखा एक स्पेशल पोस्ट

रणदीप ने इस रोल के लिए बहुत तैयारी की थी और उन्होंने पूरे 3 साल अपने बाल नहीं काटे थे। जैसा की आप फोटो में भी देख सकते है। 

 
रणदीप हुड्डा ने सारागढ़ी के युद्ध की 124 वर्षगांठ पर अपनी शेल्व्ड फिल्म को याद करते हुए लिखा एक स्पेशल पोस्ट

  ऑडियंस को हमेशा ही जो फिल्में सच्ची घटनाओं पर आधारित होती है , वे बहुत पसंद आती है। हम उस समय वहां नहीं हो पाते लेकिन अपनी फिल्मों के माध्यम से हम उस इंसिडेंट को जीते है। ऐसा एक ही इंसिडेंट हमारे इतिहास में हुआ जो आज तक सबको याद रहता है। हम बात कर रहे है सारागढ़ी के युद्ध के बारे में। 12 सितम्बर को उस युद्ध की 124 वर्षगांठ थी और रणदीप हुडा ने अपनी फिल्म जो इसी युद्ध पर बनने वाली थी पर कभी बन ना सकी , किया फिल्म को याद एक पोस्ट के सा उन्होंने फिल्म के लिए अपने लुक को शेयर करते हुए लिखा, "कुछ फिल्में कभी नहीं बन पायी लेकिन उनकी कहानी हमेशा अमर रहती है। 1897 में नॉर्थ वेस्ट फ्रंटियर पर (आज का अफ़ग़ानिस्तान) 21 सिख 10000 अफगानिस्तानी के सामने लड़े थे। उनकी मौत निश्चित थी लेकिन उनका यह डिसीजन अपने दुश्मनों के सामने ना झुकने का और 6. 5 घंटे के इस युद्ध में लड़ने का, दुनिया के इतिहास में आज भी याद किया जाता है। उनकी याद में 3 गुरुद्वारे बनाये गए थे ,यह वाला अमृतसर गोल्डन टेम्पल के पास है। “

Must Read बप्पा के आने से घर का पूरा माहौल ही बदल जाता है- सुधांशु पांडेय

रणदीप इसी युद्ध को लेकर एक फिल्म में कास्ट होने वाले थे लेकिन फिर अक्षय कुमार की फिल्म केसरी आयी और उस वजह से उनकी फिल्म कभी बन नहीं पाई . रणदीप ने इस रोल के लिए बहुत तैयारी की थी और उन्होंने पूरे 3 साल अपने बाल नहीं काटे थे। जैसा की आप फोटो में भी देख सकते है। वर्कफ्रंट पर, रणदीप एक सोशल कॉमेडी फिल्म 'अनफेयर & लवली' में  नजर आएंगे। इस फिल्म को बलविंदर सिंह जंजुआ ने डायरेक्ट किया है और फिल्म में उनके साथ  इलियाना  डी'क्रूज़ नजर आएँगी। फिल्म इंडियंस के गोरे  रंग को लेकर ओबसेशन पर आधारित है। इसके साथ साथ वह फिल्म 'रैट ऑन ए हाईवे' में नजर आएंगे। वह जल्दी ही वेब सीरीज 'इंस्पेक्टर अविनाश' में नजर आएंगे जिसे नीरज पाठक ने डायरेक्ट किया है।

Disclaimer: This post has been auto-published from an agency news helpline feed without any modifications to the text and has not been reviewed by an editor