महारानी रिव्यू:- बिहार की राजनीति में छा गई हुमा कुरैशी, कहानी और एक्टिंग दमदार।

सुभाष कपूर और करण शर्मा की इस फिल्म ने कमाल तरीके से बिहार की राजनीति को पेश किया है। साथ ही अब तक फिल्म को बड़े अच्छे रिस्पांस भी मिलते दिख रहें हैं।
 
महारानी रिव्यू:- बिहार की राजनीति में छा गई हुमा कुरैशी, कहानी और एक्टिंग दमदार।

28 मई को बॉलीवुड एक्ट्रेस हुमा कुरैशी की रिलीज हुई सिरीज 'महारानी' जिसमें हुमा मुख्यमंत्री बनती दिखी। सिरीज की कहानी पॉलिटिकल ड्रामा है पर सिरीज में उसे बड़े ही गंभीर और व्यंग के रूप में दिखाया जा रहा है। भारत की पॉलिटिक्स में कई बार इस तरह से एक अनपढ़ पत्नी का अपने नेता पति के लिए मुख्यमंत्री बनते देखा है। और इसी भारत की पॉलिटिक्स को बढ़े ही बारीक नजरिया के साथ दिखाया जा रहा है। जंहा हुमा बिहार के मुख्यमंत्री की पत्नी का किरदार निभा रही हैं जो अपनी गद्दी बचाने के लिए मुख्यमंत्री के पद पर अपनी अनपढ़ पत्नी को सत्ता में उत्तराधिकारी बनाता  है। वहीं पत्नी अनपढ़ जरूर है पर लोगों की भावनाओं को समझना वह अच्छी तरह से जानती है। 

इसकी कहानी को भले ही बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके लालू प्रसाद यादव और उनकी पत्नी राबड़ी देवी के दौर से जोड़ा गया है । सिरीज में कहानी उनकी तो नहीं पर उस दौर और माहौल को दिखा जाती है। जातिवाद की कहानी में निचली जाति के नेता को पहली बार मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला और विरोधी पार्टी उनकी जान की दुश्मन बन गई। निचली जाति के मुख्यमंत्री बने एक्टर सोहम शाह बखूबी अपनी चाल चलते हैं। सोहम शाह यानी कि मुख्यमंत्री पर गंभीर हमला होने के बाद राजनीति नया मोड़ लेती है हुमा कुरैशी के किरदार से। हुमा कुरैशी बनती है मुख्यमंत्री और इसी परफोर्मेंस को दमदार तरीके के दिखाया गया।

और भी पड़ें: जुलाई में नेटफ्लिक्स पर रिलीज होगी तापसी पन्नू की 'हसीन दिलरुबा'

सिरीज में हुमा अपने बिहारी लहजे को पूरे दस एपिसोड्स में ऐसे दिखा गई कि हुमा को रानी भारती से अलग नहीं देखा जा सकता। सिरीज में हुमा के किरदार को मजबूत बनाते हुए एक अनपढ़ मुख्यमंत्री के कई दांव-पेंच और उसकी सूझ-बूझ को दिखाया गया। ओवरआॅल बात करें तो सिरीज की कहानी पूरे एपिसोड्स में जोड़े रखती है छोटे से छोटे किरदार ने भी अपनी एक्टिंग से अपनी छाप छोड़ी है।

सुभाष कपूर और करण शर्मा की इस फिल्म ने कमाल तरीके से बिहार की राजनीति को पेश किया है। साथ ही अब तक फिल्म को बड़े अच्छे रिस्पांस भी मिलते दिख रहें हैं। हुमा के साथ-साथ सोहम शाह, अमित सियाल, प्रमोद पाठक, कानी कुसरुति और इनाम उल हक मुख्य भूमिका में नजर आए। किरदारों के डॉयलॉग के बीच हुमा के इमोशन्स और एक्सप्रेशन ने बेहतरीन पहचान बनाई।  राज्य में हो रही हलचल और अपोजिशन के घिराव में घिरी हुमा की पर्फोर्मेंस भी कमाल की है।