अपनी यादों और जादू को हमेशा के लिए छोड़, दिलीप कुमार साहब चल बसे

 98 वर्ष के दिलीप कुमार का निधन आज सुबह ही हिंदुजा अस्पताल में हुआ। सोशल मीडिया पर लोगों की प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है।
 
Dilip Kumar hospital picture
हिंदी सिनेमा के दिग्गज कलाकार आज अपनी यादों और सिनेमा पर बिखरने वाले जादू को हमारे बीच ही छोड़कर दूर चले गए। दिलीप कुमार साहब के निधन की खबर से लोग अपने चहीते कलाकार की यादों में खो गए हैं। 98 वर्ष के दिलीप कुमार का निधन आज सुबह ही हिंदुजा अस्पताल में हुआ। सोशल मीडिया पर लोगों की प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है।

पिछले कुछ महीनों से कलाकार दिलीप कुमार अपने स्वास्थ्य की ओर गंभीर रूप से ध्यान दे रहें हैं। इस महीने के शुरुआत में ही दिलीप कुमार अस्पताल में भर्ती हुए थे, जिसकी जानकारी उन्होंने ट्विटर अकाउंट के जरिए दी थी।  पत्नी सायरा बानो लगातार उनके स्वास्थ्य से जुड़े अपडेट्स सोशल मीडिया पर देती भी दिखी। 30 जून को दिलीप कुमार साहब दोबारा हिंदुजा अस्पताल रूटिन चेकअप के लिए पहुंचे थे। वहीं सायरा बानो लगातार अस्पताल में उनका ध्यान रखती दिखी। कल शाम ही सायरा ने ट्विट करते हुए कहा था कि, 'दिलीप कुमार साहब जी के लिए प्रार्थना की जाए..।' वहीं आज सुबह, सभी की प्रार्थनाओं को शांत करते हुए दिलीप कुमार सदेव के लिए चल बसे।

और पड़ें : नुसरत भरुचा ने मुंबई में एक अनअनाउंसड प्रोजेक्ट की शूटिंग की शुरू, शेयर की तस्वीर!

जानकारी के अनुसार, दिलीप कुमार साहब को सांस लेने में तकलीफ की शिकायत थी और जिसके चलते,उन्हें हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जांच में पता लगा था कि उनके फेफड़ों के बाहर लिक्विड इकट्ठा हो गया था, ट्रीटमेंट के बाद लिक्विड को निकाला गया जिसके चलते उनके स्वास्थ्य पर गंभीर रूप से ध्यान दिया जानेलगा था और रूटिन चेकअप के लिए अस्पताल में इलाज कराते दिख रहे थे।

98 साल के दिलीप कुमार जी की फैन फोलोइंग बहुत जबरदस्त रही हैं। फैंस उनकी फिल्मों और उनकी पर्फोर्मेंस को बहुत पसंद करते हैं। दिलीप कुमार भी अपनी फिल्मों और शख्सियत के जरिए लोगों के बीच अपना नाम बनाने में कामयाब रहे। अपने असली नाम 'मोहम्मदाबाद युसूफ खान' से भी जाने गए, दिलीप कुमार साहब को हिंदी सिनेमा के 'पहले खान' का भी दर्जा मिला है।

हिंदी सिनेमा में मेथड् एक्टिंग टेक्नीक लाने का श्रेय दिलीप कुमार जी को ही दिया गया है। वहीं सबसे ज्यादा फिल्म फेयर्स अवॉर्ड जीतने वाले कलाकार दिलीप कुमार जी बने। पद्म भूषण, पद्म विभूषण और निशान-ए-इम्तिआज जैसे अवॉर्ड्स के जरिए दिलीप कुमार जी के कामों को सराहा गया। साल 1944 में दिलीप कुमार की पहली फिल्म 'ज्वार-भाटा' रिलीज हुई थी। वहीं अपने 5 दशक के करियर में दिलीप कुमार ने 65 फिल्मो मेंं मुख्य भूमिका निभाई। दिलीप कुमार और एक्ट्रेंस सायरा बानो की लवस्टोरी भी खूब चर्चित रही और दोनों, बतौर पति-पत्नी अपनी जिंदगी बेहतरीन बनाते दिखे। आखिर, आखिरी समय त सायर उनके जिंदगी का हिस्सा रही।
दिग्गज कलाकार दिलीप कुमार साहब को भावपूर्ण श्रद्धांजलि..

Disclaimer: This post has been auto-published from an agency news helpline feed without any modifications to the text and has not been reviewed by an editor